Saturday, 2 February 2019

एन.जी.टी. और सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशो को ताक पर रखकर यूपी के फतेहपुर रामनगर कौहन में धड़ल्ले से मौरंग खनन, प्रशासन मौन

एन.जी.टी. और सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशो को ताक पर रखकर
यूपी के फतेहपुर रामनगर कौहन में धड़ल्ले से मौरंग खनन, प्रशासन मौन
 

फतेहपुर - असोथर क्षेत्र के रामनगर कौहन यमुना किनारे गाटा संख्या 144 में खनन के पट्टे की आड़ में अवैध मौरंग खनन धड़ल्ले से हो रहा है। 

खनन की शर्तों के अनुसार खनन शाम सात बजे के बाद रात में नहीं किया जा सकता जबकि रात में होने वाले खनन से अधिकांश मौरंग के वाहन बिना रायल्टी के ही भरे जाते हैं, जिससे काफी भारी मात्रा में सरकारी राजस्व को भी चूना लगाया जा रहा है।

प्रशासन की चुप्पी इस पर सवालियां निशान लगा रही है।
गांव रमसोलेपुर के पास यमुना नदी में खनन पट्टे की आड़ में पट्टाधारक व मौरंग खदान संचालक द्वारा दिन-रात बड़े पैमाने पर यमुना नदी का सीना चीरा जा रहा है।

रात्रि में खनन की पाबंदी के बावजूद भी रात में खनन माफिया अधिक गहराई तक खनन करने वाली हैवी एक दर्जन पोकलैंड मशीनों व जेसीबी मशीन का प्रयोग कर डम्फर व ट्रक दिन रात में मौरंग यमुना नदी से निकालते जा रहे हैं।

यमुना नदी में बेखौफ शासन और प्रशासन से बेपरवाह दिन-रात बेतहाशा खनन कर रहे हैं।

मामले में पूरे जिले के कई आला अधिकारी मौन हैं।
यह हाल उस समय है जब सूबे में पूर्ण बहुमत की योगी सरकार हैं

मौरंग खदानों में शाम सात बजे के बाद नहीं कटती रॉयल्टी ( रवन्ना )


अधिकतर मौरंग खदान से निकलने वाली गाड़ियां शाम सात बजे के बाद ही निकलती हैं ।

इसका कारण यह हैं शाम सात बजे के बाद खनन विभाग का सर्वर डाउन हो जाता है जिसके बाद कोई रॉयल्टी या कोई ट्रक नहीं भरा जा सकता लेकिन रात में बिना रॉयल्टी के सैकड़ो ट्रक भरे जा रहे हैं।

इससे सरकार को हर रोज कई लाख रुपए का राजस्व का चूना लगाया जा रहा है।

कौहन मौरंग खदान से ओवलोड़ मौरंग भर कर निकलते प्रति दिन सैकड़ों हैवी वाहन

बताते चलें कि रामनगर कौहन मौरंग खदान संचालक बेखौफ ओवलोड़ मौरंग दे रहे हैं , अनुमति 9 घन मीटर की, माल भर रहे 30 से 40 घनमीटर शासन ने रॉयल्टी के समय हर गाड़ी में माल भरने की सीमा तय की है जिसमें 10 टायर ट्रक में 9 घनमीटर वह 12 टायर में 12 घनमीटर रेत भर सकते हैं।
ट्रक चालकों को मात्र 9 घनमीटर की रॉयल्टी देकर खदान संचालको द्वारा गाड़ी में तीस से चालीस घनमीटर माल भरते हैं।

जिससे हर दिन शासन को कई लाख रुपए का राजस्व का नुकसान पहुंचाया जा रहा है।
यह सब खेल प्रशासन व पुलिस की नाक के नीचे हो रहा है।

जानकारों की मानें तो यह सब नियम और कानून को ताक में रखकर खुलेआम पोकलैंड मशीनों से अवैध खनन की  मिलीभगत का खेल सफेदपोश सत्ताशीन नेताओं की सह पर हो रहा हैं।

अगर कही दबाव में आकर कार्यवाही भी की जाती हैं , तो महज औपचारिकता ।
पर्यावरण और प्रकृति से खिलवाड़ करने वाले दिन रात बेतहाशा खनन कर रहे हैं पर्यावरण संरक्षण पर निरंतर खतरा मंडरा रहा हैं , इसके बाद भी विभागीय अफसरशाह मौन साधे बैठें हैं ।

यह विचारणीय प्रश्न हैं ?
Continue reading

Friday, 1 February 2019

बीजेपी मंडल अध्यक्ष असोथर समेत 5 अन्य पर SC - ST का मुकदमा दर्ज


बीजेपी मंडल अध्यक्ष असोथर समेत 5 अन्य पर SC - ST का मुकदमा दर्ज

फतेहपुर / असोथर - असोथर कस्बे में दिनांक 31- 01 - 2019 को हुई प्रधानपति रामकिंकर व अनुज सिंह के साथ मारपीट व छीना झपटी की घटना के संबंध में आज थानाध्यक्ष असोथर कमलेश कुमार पाल द्वारा दोनों पक्षों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई कर मुकदमा पंजीकृत किया गया ।


ग्राम प्रधान प्रतिनिधि रामकिंकर अवस्थी ने अपनी गले की चैन अनुज प्रताप सिंह को छीन लेने का आरोप लगाया , प्रधान प्रतिनिधि पक्ष के महावीर रैदास की तहरीर के अनुसार पूर्व में हुई मारपीट दिनांक 16 - 06 - 2016 को गांव के ही अनुज प्रताप सिंह , दीपेश सिंह , मुकेश सिंह , महामाया सिंह , विकास सिंह , शैलेश सिंह , के विरुद्ध थाना असोथर में मुकदमा अपराध संख्या 200 सन 2016 में

  • धारा 147 , 149 , 323 , 504 , 395 आईपीसी व SC - ST एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया था , 


जिसमें विवेचना होने के पश्चात न्यायालय में चार्जशीट प्रेषित की गई थी ,जिसमें महावीर रैदास व उपरोक्त मुकदमे के गवाह रामकिंकर की गवाही होना है जिसमें कल दिनांक 31 - 01 - 2019 को अनुज सिंह , अंकित सिंह , दीपेश सिंह भदौरिया , शिव बदन सिंह ,अन्ननी सिंह , शिव प्रताप सिंह , ने महावीर रैदास व ग्राम प्रधानपति से मारपीट की उपरोक्त प्रकरण पर

  • धारा 147, 323 ,504 ,506 , 392, 3(2)(v) अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति
  • (नृशंसहता निवारण अधिनियम) Sc-st पंजीकृत किया गया 

हीं दूसरे पक्ष के अनुज सिंह की तहरीर पर ग्राम प्रधान पति रामकिंकर अवस्थी पर वह उनके कुछ अज्ञात समर्थकों पर

  • धारा 352 392 , 427 , के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया गया ।


अनुज सिंह का कहना था वह रोज की भांति शाम 7:00 बजे अपनी आढ़त से घर वापसी आ रहे थे तभी रास्ते में रामकिंकर अवस्थी पुत्र गणेश अवस्थी निवासी ग्राम असोथर आपने कुछ समर्थकों के साथ अपने घर के सामने खड़े थे । प्रार्थी की गाड़ी गड्ढा होने की वजह से रुक गई जो कि प्रार्थी का रामकिंकर के साथ पुराना विवाद है और प्रार्थी लगातार रामकिंकर अवस्थी की प्रधान पत्नी के द्वारा की गई अनियमितता की शिकायत करता रहता है उसकी खुन्नस में रामकिंकर अवस्थी ने प्रार्थी ऊपर हमला कर दिया और प्रार्थी के गले की चेन तोड़ दिया और लाठी से प्रार्थी के ऊपर हमला कर दिया वह प्रार्थी की गाड़ी को क्षतिग्रस्त कर दिए प्रार्थी किसी तरह अपनी जान बचाकर असोथर थाना पहुंचा और तुरंत अपने ऊपर हमले की जानकारी दिया ।

वही पूरे मामले पर बीजेपी मंडल अध्यक्ष शिवप्रताप सिंह ने बताया कि उपरोक्त प्रकरण में उन्हें बेवजह व उनके द्वारा की बीस लाख रुपयें से अधिक कूड़ादान डिब्बों की जांच करवाने के कारण रंजिशन प्रधान प्रतिनिधि रामकिंकर अवस्थी की सह पर फंसाया जा रहा हैं ।
व वह कल हो रही मारपीट के दौरान मौके पर थे ही नहीं ,
वह पूरे मामले को आला अधिकारियों को अवगत करवाएंगे इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गुहार लगाएंगे ।

पूरे मामले पर थानाध्यक्ष असोथर का कहना हैं , की पूरे प्रकरण की जांच क्षेत्राधिकारी थरियांव रामप्रकाश के द्वारा की जा रही हैं , जांच उपरांत दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की जाएंगी ।
Continue reading

Sunday, 20 January 2019

FATEHPUR - आज फिर ओवरलोडिंग पर प्रशासन की सख्ती का कसा शिकंजा।


👉 आज फिर ओवरलोडिंग पर प्रशासन की सख्ती का कसा शिकंजा।

✍धीरेन्द्र सिंह"राणा"

➡जनपद के जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह और पुलिस अधिक्षक राहुल राज के सख्त निर्देशों के बाद जिला प्रशासन द्वारा मौरम-गिट्टी से ओवरलोड गाड़ियों पर रोक लगाने के उद्देश्य से अक्सर कई बार बड़ी-बड़ी कार्यवाही की जाती रही है, उसी क्रम में आज जनपद के असोथर थाना क्षेत्र में 9 ओवरलोड गाड़ियों को एंटीओवरलोडिंग टीम द्वारा सीज किया गया। आज सुबह खनन अधिकारी, एसडीएम, सीओ थरियांव और असोथर थाना प्रभारी कमलेश पाल ने अपनी पुलिस टीम के साथ ओवरलोडिंग पर शिकंजा कसने के उद्देश्य से चेकिंग लागाई जिसमे 9 ओवरलोडिंग गाड़ियों को सीज किया गया।


  • सीज की गई गाड़ियां--!
  • 1-UP71T8513
  • 2-UP71AT1537
  • 3-UP95T0800
  • 4-UP33T3128
  • 5-UP33T2104
  • 6-UP32CZ5013
  • 7-UP71T3405
  • 8-UP71T7095
  • 9-UP33T5668
Continue reading

Thursday, 10 January 2019

डीएम ने किया विद्यालयों का औचक निरीक्षण




डीएम ने किया विद्यालयों का औचक निरीक्षण

फतेहपुर / असोथर : शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने के लिए जिला अधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने असोथर विकास खंड के अनेक विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। 

शिक्षा के स्तर में कमी पाए जाने पर प्रधानाचार्यों व शिक्षकों को कड़ी फटकार लगाई।
व नौनिहालों के बीच स्वंय शिक्षक बन कर सवाल ,जवाब किया , जवाब देने पर बच्चों को डीएम ने चॉकलेट दिया ।
जिलाधिकारी ने भ्रमण के दौरान प्राथमिक विद्यालय मटिहा सरकंडी तथा उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मटिहा सरकंडी का निरीक्षण किया।
इस मौके पर बारह छात्र उपस्थित पाए गए। डीएम ने विषय संबंधित प्रश्न पूछे तो बच्चे जबाब नहीं दे पाए। जिलाधिकारी ने प्रधानाध्यापक को बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान देने का निर्देश दिया। उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के निरीक्षण में शिक्षा का स्तर न्यून पाने पर गहरी नाराजगी व्यक्त की।
डीएम ने बच्चों को खाना खाने के पहले हाथ धोने की जानकारी दी। इसके बाद डीएम ने सरकंडी खाश प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया।
डीएम ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय मुंजी कुआ आदि में भी निरीक्षण किया।
ग्रामसभा सरकंडी में कई जगहों अनिमितताओं की जानकारी मिलने पर भी जिलाधिकारी उन्हें अनसुना कर दिए , व कहा कि अगर मुझे प्रधान व पंचायत सचिव के खिलाफ अगर कोई ठोस शिकायत मिली तो ही कार्यवाही होंगी , अन्यथा ऐसे तो बहुत लोग आरोप लगाते रहते हैं , सरकंडी ग्रामसभा के मजरें मुंजी कुआ में लोगों का कहना था कि यहाँ प्रधान व पंचायत सचिव द्वारा लोगों को सेक सूची 2011 में नाम होने के बावजूद बीस से पच्चीस हजार रुपये प्रति आवास न देने पर लोगों के आवास निरस्त कर दिए जाते हैं । व प्रधान व पंचायत सचिव की मिलीभगत से अपात्र लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना में लाभ दिया जा रहा हैं ।
हालांकि लोगों ने काफी अनुरोध भी किया कि साहब आप स्वयं चल कर  यह अंधेरे गर्दी देख लीजिए , हालांकि जिलाधिकारी ने समय अभाव के चलते अन्य स्थानों में निरीक्षण करने के लिए चल दिये ।
जहां डीएम ने विद्यालयो में बच्चों के पीने वाले पानी की गुणवत्ता में कमी पाई। व डीपीआरओ अजय आनंद सरोज को विद्यालयों में आरओ फ़िल्टर मशीन लगाने के लिए कहा , ग्रामसभा कौंडर में सरकारी जमीन पर अवैध कब्जे की शिकायत पर शिकायत कर्ता केपी सिंह तोमर की शिकायतो से सम्बंधित फाइल उनसे ली और स्थानीय लेखपाल , व ग्राम पंचायत सचिव को कार्यालय में मिलने के लिए कहा। प्राथमिक विद्यालय कौंडर में भी खुलेआम सरकारी नल से पानी पीते हुए बच्चों को देखकर डीएम ने शिक्षकों को कड़ी फटकार लगाई व कहा कि कल से बच्चे आरओ फिल्टर मशीन से निकला पानी ही पिएंगे ।
इस दौरान उनके साथ थानाध्यक्ष असोथर कमलेश कुमार पाल , डीपीआरओ अजय आनंद सरोज , क्षेत्रीय लेखपाल , व सैकड़ों लोग उपस्थित रहे ।

मौरंग खदानों में ठिठक गए ट्रकों व ट्रैक्टरों के पहिये व एक दर्जन से अधिक चल रही मशीनों की गर्जना भी बंद रही ,


जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह के सरकंडी ग्रामसभा के विद्यालयों के औचक निरीक्षण के दौरान असोथर क्षेत्र के यमुना पट्टी के रामनगर कौहन  A - 1 मौरंग खदानों में ठिठक गए ट्रकों व ट्रैक्टरों के पहिये व एक दर्जन से अधिक चल रही मशीनों की गर्जना भी बंद रही ,
एक स्थानीय पत्रकार ने जिलाधिकारी महोदय से मौरंग खदान में मानक विहीन ठेकेदारों द्वारा कार्य किये जाने की शिकायत भी की , एन.जी.टी. व हाईकोर्ट के दिशा निर्देश को ताक पर रख कर रामनगर कौहन की मौरंग खदान पूरी पूरी रात्रि एक दर्जन से अधिक पोकलैंड मशीनों द्वारा भारी मात्रा में खनन किया जा रहा हैं , व प्रशासन के सहयोग से ओवरलोड ट्रकों द्वारा मौरंग का आवागमन किया जा रहा हैं।
इस पर जिलाधिकारी महोदय ने कोई विशेष ध्यान नहीं दिया और अन्य विद्यालयों का औचक निरीक्षण कर चले गए।
Continue reading

Saturday, 5 January 2019

चंद्रकला पर बड़ा दाग…एक साल में 90% बढ़ गई IAS चंद्रकला की संपत्ति-हैरान कर देगी पूरी सच्चाई


चंद्रकला पर बड़ा दाग…एक साल में 90% बढ़ गई IAS चंद्रकला की संपत्ति-हैरान कर देगी पूरी सच्चाई

गौरव सिंह गौतम ( संपादक आत्म गौरव न्यूज़.com)

नई दिल्ली -  मौरंग / बालू के अवैध खनन से जुड़े मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने शनिवार को उत्तर प्रदेश और दिल्ली में 12 जगहों पर छापे मारे। अधिकारियों ने बताया कि आईएएस अधिकारी बी। चन्द्रकला सहित वरिष्ठ अधिकारियों के आवासों पर इस संबंध में छापे मारे गए। चन्द्रकला भ्रष्टाचार के खिलाफ अपने अभियानों के लिए सोशल मीडिया पर बेहद लोकप्रिय हैं।


उन्होंने बताया कि छापे उत्तर प्रदेश के जालौन, हमीरपुर, फतेहपुर , लखनऊ समेत कई जिलों के साथ ही दिल्ली में भी मारे गए। 
दरअसल, सीबीआई इलाहाबाद उच्च न्यायालय के निर्देश पर मामले की जांच कर रही है।
बी। चंद्रकला का घर योजना भवन के पास सफायर एंड विला में है।
फिलहाल, बी चंद्रकला डेप्यूटेशन पर हैं। यूपी में उनकी छवि एक कड़क और ईमानदार अफसर की रही है।
इससे पहले बुलंदशहर, हमीरपुर समेत कई जिलों में बतौर डीएम चंद्रकला ने अपने कामों और कड़क अंदाज की वजह से वाहवाही और सुर्खियां बटोर चुकी हैं।
सीबीआई ने चंद्रकला के हमीरपुर आवास पर छापेमारी की है।

बी। चन्द्रकला 2008 बैच की IAS अधिकारी हैं। सोशल मीडिया पर चंद्रकला काफी मशहूर हैं।
पर लोकप्रियता के मामले में चंद्रकला उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से कहीं आगे हैं।
फेसबुक पर चंद्रकला के 8,636,348 से ज्यादा फॉलोअर्स हैं। वहीं, अखिलेश के फॉलोअर्स की संख्या 6,816,363 है।


पहले भी लग चुके हैं चंद्रकला पर ‘दाग’ : साल 2017 में IAS बी। चंद्रकला अपनी संपत्ति का ब्योरा देने में डिफॉल्टर साबित हुई थीं।
दरअसल, सिविल सेवा अधिकारियों को 2014 के लिए 15 जनवरी 2015 तक अपनी संपत्ति का रिकॉर्ड पेश करना था।
लेकिन एक साल बीतने के बाद भी इन अधिकारियों ने अपनी संपत्ति का ब्योरा नहीं दिया था। चंदकला का नाम भी इसमें शामिल था।


केंद्र सरकार के सामान्य प्रशासन एवं प्रशिक्षण विभाग की जानकारी के मुताबिक चंद्रकला की संपत्ति 2011-12 में सिर्फ 10 लाख रुपये थी। 2013-14 में यह बढ़कर करीब 1 करोड़ रुपये हो गई।
यानी एक साल में उनकी संपत्ति 90 फीसदी बढ़ी।

2011-12 में अपने गहने बेचकर और वेतन से चंद्रकला ने आंध्र प्रदेश के उप्पल में 10 लाख का फ्लैट खरीदा था।
अब उनके पास लखनऊ के सरोजिनी नायडू मार्ग पर अपनी बेटी कीर्ति चंद्रकला के नाम से 55 लाख का फ्लैट है। हालांकि उन्होंने दावा किया था कि यह फ्लैट उनके सास-ससुर ने उन्हें गिफ्ट किया था।
इसके अलावा आन्ध्र प्रदेश के अनूपनगर में भी उन्होंने 30 लाख का एक मकान खरीदा है।
इससे वह 1.50 लाख सालाना कमाई का दावा करती हैं।
Continue reading

Friday, 4 January 2019

फतेहपुर - 8 जुआड़ी गिरफ्तार , 3200 रकम बरामद


फतेहपुर - जनपद में तेज तर्रार पुलिस अधीक्षक राहुल राज के अपराधों पर लगातार लगाम लगाने की कड़ी में शुक्रवार को असोथर थानाध्यक्ष कमलेश कुमार पाल के साथ पुलिस टीम ने थाना क्षेत्र के टिकर गांव में छापेमारी कर जुआ खेलते 8 जुआरियों को गिरफ्तार कर ताश की गड्डी व रुपया बरामद किया है। 

 जुआड़ीओ के पास से 3200 सौ रुपएं व ताश की दो गड्डी व टॉस फेंकने वाली कौड़ी बरामद की गई है। मुखबिर की सटीक सूचना पर असोथर थानाध्यक्ष कमलेश पाल के निर्देश पर गई पुलिस टीम ने थानाक्षेत्र टीकर गांव में छापेमारी की। पुलिस ने जुआडियों की घेराबंदी कर जुआडियों को धर दबोचा। 

तलाशी के दौरान जुआडियों के कब्जे से 3200 सौ रुपये बरामत हुवे व जमातलासी 1970 रुपये कुल 5170 रुपया बरामद किया गया , व कुल 8 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया , जिन पर मु0अ0स0-02/19 धारा 13 जुआ पंजीकृत किया गया। 

 गिरफ्तार किए गए व्यक्ति 

  •  1 -दिनेस सिंह पुत्र रामेस्वर सिंह, 
  • 2 -राजू मौर्य पुत्र राम खेलावन, 
  • 3 -महेश मौर्य पुत्र शिवप्रसाद, 
  •  4 - गफ्फार पुत्र मो० असरफ, 
  • 5 - मोतीलाल पुत्र जगतपाल गौतम, 
  •  6 - अखिलेश पुत्र जवाहरलाल, 
  • 7 - मोहित गुप्ता पुत्र पन्ना लाल, 
  • 8 - हीरालाल पुत्र प्रभुदयाल
Continue reading

Saturday, 22 December 2018

फतेहपुर - बहुचर्चित दोहरा हत्याकांड , 7 अभियुक्तों को आजीवन कारावास


फतेहपुर - बहुचर्चित दोहरा हत्याकांड , 7 अभियुक्तों को आजीवन कारावास  

फतेहपुर - जिला एवं सत्र न्यायालय के न्यायाधीश ने मलवां थाने के सहेली गांव की चर्चित घटना मां-बेटी की हत्या का फैसला लगभग ढाई साल बाद सुनाया। 

जिसमें सात अभियुक्तों को आजीवन कारावास के साथ ही 18 लाख रूपये का अर्थदण्ड वसूल करने का फैसला दिया। उक्त जुर्माने की आधी धनराशि मुकदमे की पीड़िता को देने का फरमान भी जारी किया है। न्यायालय के आये फैसले से पीड़िता पूरी तरह से खुश रही। पीड़िता का कहना रहा कि न्यायालय के न्याय पर उसे पूर्ण विश्वास था। आज उसकी मां और बहन की हत्या में लिप्त हत्यारों को यही सजा मिलनी चाहिए थी। 
जिले के मलवां थाना के सहेली गांव में वर्ष 2016 के चैदह अप्रैल को सुबह साढ़े छह बजे परिवार के ही आदित्य नारायण, चंदन, छोटू, संदीप, शैलेन्द्र, दिनेश नारायण, राहुल ने एकराय होकर तमंचा, कुल्हाड़ी के साथ विमला देवी के घर घुस गये थे और इसके बाद उक्त लोगों ने विमला देवी के साथ उसकी बेटी को कुल्हाड़ी व लाठी-डण्डों से वार कर जहां मरणासन्न किया था वहीं जाते वक्त गोली मारकर हत्या भी कर दी थी। वहीं मृतका की छोटी बेटी कु0 इला घर के अंदर जैसे ही दाखिल हुयी तो उक्त मुल्जिमानों ने उसे भी अपना निशाना बना लिया। लेकिन इस घटना में इला को गोली तो लगी लेकिन उपचार के बाद वह बच गयी। मृतका के देवर की ओर से हत्या में लिप्त लोगों के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया था। मुकदमे की चली तफशीश में यह भी पता चला कि मुकदमा लिखाने वाले देवर की भी हत्या की घटना में संलिप्तता है। जिस पर निवर्तमान पुलिस अधीक्षक के आदेश पर मृतका के देवर के विरूद्ध 120बी का मुकदमा दर्ज किया गया था। पूरे मुकदमे की तफशीश के बाद न्यायालय में दाखिल किया गया आरोप पत्र के बाद उक्त घटना में घायल हुयी मृतका की छोटी बेटी इला की गवाही एवं शासकीय अधिवक्ता बृजेश कुमार शुक्ला व अनिल कुमार दुबे की ओर से रखी गयी दलीलों के बाद जिला एवं सत्र न्यायालय के न्यायाधीश नीरज निगम ने मुकदमें के सारे पहलुओं को मद्देनजर रखते हुए घटना में संलिप्तता पाये जाने पर उक्त मुल्जिमानों को आजीवन कावारास के साथ 18 लाख रूपये अर्थदण्ड का फैसला सुनाया।
Continue reading